Saturday, 5 September 2015

और पैसा, और पैसा

किस ने ये भ्रम फैलाया
की पैसा ही जवाब है?
मुझे भी ये महसूस करवाया
की पैसा ही नवाब है
जो भी बताया
सब गलत बताया
कि उसके 100 (पैसे) का
मेरे पास 200 होना ही
एकमात्र जवाब है
किसने मुझे भी
इस भेड़ चाल में लगाया
किस ने ये भ्रम फैलाया
की पैसा ही जवाब है?
मुझे भी ये महसूस करवाया
की पैसा ही नवाब है

भूलता चला गया मैं भी,
दुनिया को इस खोज में
कि मेरी "मैं" ही सबसे बड़ी हो
मेरी चादर सबसे बड़ी
और सबसे ज्यादा सफ़ेद हो
पैसा तो मिला
पर सुकून कही खो गया
दुनिया कि इस भीड़ में
मैं भी कही खो गया
इंसान को इंसान समझा
ऑंखें बंद कि और मैं सो गया
पैसे से कोई जवाब
तो नहीं मिला
पर ज़िन्दगी खत्म हो गई
पता नहीं
पैसे से क्या कमाया ज़िन्दगी में
आखरी कि विदाई तो
खली हाथ ही हो गई

                                                    -JP